October 3, 2022

ये बात शायद ही किसी से छुपी होगी कि राजू अमिताभ के बड़े वाले फैन रहे. बड़े वाले से हमारा मतलब है, ऐसे फैन कि जो जब मुंबई में अपना करियर बनाने आए थे, तो उन्हें सिवाय अमिताभ की मिमक्री के अलावा कुछ नहीं आता था. राजू श्रीवास्तव ने बचपन से सिर्फ अमिताभ की ही फिल्में देखी थी. उन्ही के डायलॉग को याद किया था.

राजू को अमिताभ की हर फिल्म का डायलॉग याद रहता है. एक इंटरव्यू में राजू ने खुद इस बात की पूरी कहानी बताई थी. राजू ने बताया कि कैसे अमिताभ की वजह से ही उन्हें काम मिला. कैसे मेगास्टार से उनकी पहली मुलाकात हुई थी. 

राजू के बचपन का मजेदार किस्सा

राजू ने एक इंटरव्यू में बताया कि उनकी मिमिक्री की शुरुआत कैसे हुई थी. राजू जब स्कूल में पढ़ते थे तो पढ़ाई में मन लगता नहीं था. बस 15 अगस्त और 26 जनवरी का इंतजार रहता था. वो इसलिए क‍ि क्लास में मैडम पूछे कौन कौन प्रोग्राम में परफॉर्म करेगा. राजू बचपन में इंदिरा गांधी की नकल करते थे.

लेकिन एक दिन उन्होंने शोले फिल्म देखी. फिल्म देखने के बाद राजू खुद-ब-खुद अमिताभ के स्टाइल में बात करने लगे थे. उन्होंने अपनी साइकल निकलवाने के लिए भी पार्किंग वाले शख्स से अमिताभ के स्टाइल में ही बात की. उस दिन से मैं उनका फैन बन गया.

अमिताभ हैं राजू के आइडियल

राजू श्रीवास्तव ने बताया कि जब वे मुंबई आए थे तब उन्हें काम की तलाश में हर दिन भटकना पड़ता था, लेकिन कुछ नहीं हो पा रहा था. जिसके बाद गली वाले बैंड-ऑर्केस्ट्रा के मेंबर्स से उनकी बात हुई. उन्हें राजू ने अमिताभ की मिमिक्री कर के दिखाई.

उस दौर में अमिताभ की मिमिक्री करने वाला कोई आर्टिंस्ट नहीं था. उस समय देवानंद, दिलीप कुमार, ओम प्रकाश, शत्रुघ्न सिन्हा की मिमिक्री करने वाले बहुत थे. जो उन लोगों को बहुत पसंद आई. राजू ने बताया-पहली बार उसने मुझे 50 रुपये दिए, खाना दिया. उसके बाद 75 रुपये दिए और फिर 200 रुपये तो वो मुझे दो साल तक देता रहा. तो इस तरह से मुझे बच्चन साहब की वजह से रोजी-रोटी मिली

ये भी पढ़ें –

पहली बार जब हुई बिग बी से मुलाकात

राजू की मुलाकात अमिताभ बच्चन से पहली बार शूटिंग सेट पर हुई थी. टीनू आनंद से राजू ने रिक्वेस्ट की थी. राजू ने कहा- ”उन दिनों अमिताभ मैं आजाद हूं कि शूटिंग कर रहे थे. मैं कई बार गया फॉलो किया. टीनू जी से मैंने गुजारिश की थी. उन्होंने अमित जी से कहा- अरे अमित ये राजू श्रीवास्तव हैं.

बहुत अच्छी आपकी कॉपी करता है. कई दिनों से आपसे मिलने के लिए आ रहा है. उन्होंने मेरी तरफ देखा कहा- कहां के रहने वाले हो. मैंने कहा मैं भी श्रीवास्तव हूं. फिर मैं जल्दी जल्दी उन्हें पूरी कहानी बता रहा हूं, कि आप मेरे रिश्तेदारी में भी आते हैं. इससे पहले कि सिक्योरिटी वाला मुझे भगाए.

राजू ने कहा कि- ”मैंने उन्हें सब बता दिया वो चुप रहे. फिर मुझे समझ आया कि वो देख मुझे रहे थे पर सुन नहीं रहे थे. वो अपना डायलॉग याद कर रहे थे. थोड़ी देर बाद वो उठे और बोले हां भईया आ जाइए चलिए शूटिंग शुरू करते हैं. हां जी शबाना जी आइये, क्या सीन है क्या शॉट है.

इतने में सिक्योरिटी वाले आए और बोले- हां भई हो गया तुम्हारा, चलो. इसके बाद राजू ने बताया कि कुछ साल बीत गए. एक दौर वो भी आया जो कहा जाता है ना कि मेहनत रंग लाती है. एक मौका ऐसा आया कि जब हमारी मुलाकात हुई और मैंने उनको अपने बारे में बताया शुरू किया. उससे पहले उन्होंने बोला अरे भई आपको कुछ बताने की जरूरत नहीं है. आपको प्रोग्राम हम लोग देखते हैं. बहुत बढ़िया करते हैं आप.

raju srivastav, Amitabh bachchan

अमिताभ के सामने जब राजू ने की कॉमेडी

एक ऐसा वक्त भी था जब राजू श्रीवास्त ने खुद अपने आइडियल बिग बी के सामने खड़े होकर कॉमेडी की थी. यो वो वक्त था जब राजू श्रीवास्तव बिग बॉस के सीजन 3 में शामिल हुए थे. अमिताभ बच्चन इस सीजन को होस्ट कर रहे थे.

अमिताभ ने राजू का इंट्रो देते हुए कहा था- दुनिया को लोगों ने लड़ाइयों से जीता, ताकत से जीता. लेकिन हमारे इस कंटेस्टेंट ने दुनिया को हंसते हंसाते जीता. राजू ने कहा- सर आपकी फिल्में देखते-देखते, आपसे सीखते-सीखते ये राजू श्रीवास्तव भी कलाकार बन गया. देखें वीडियो…

राजू का जोक- अमिताभ जी को घूमने का मन हुआ. उन्होंने ड्राइवर से कहा गाड़ी निकालो चलो घूम कर आते हैं. ड्राइवर को कहा तुम पीछे बैठो गाड़ी हम चलाएंगे. ट्राफिक सिग्नल पर उनकी गाड़ी को रोक लिया गया. हवलदार ने रोका और देखकर चौंक गया.

अपने साहब को कॉल मिलाया और बोला- जल्दी आ जाओ और कमिश्नर साहब को भी लेकर आना. जल्दी आओ साहब, नाम नहीं मालूम बहुत बड़ा आदमी है, उसने अमिताभ बच्चन को ड्राइवर रखा हुआ है.