October 2, 2022
कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव
जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे पार्टी के शीर्ष पद के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) के बीच मुकाबले की स्थिति बनती जा रही है.

Ashok Gehlot and Shashi Tharoor: राहुल गांधी के स्पष्ट इनकार के बाद अब कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव के लिए माहौल बनता नजर आ रहा है. अशोक गहलोत और शशि थरूर दो नाम उम्मीदवार के तौर पर सामने आ रहे हैं. लेकिन असल सवाल है कि गांधी परिवार किस उम्मीदवार का साथ देगा.

शशि थरूर और अशोक गहलोत में मुकाबला

Ashok Gehlot and Shashi Tharoor in Congress President Election 2022: कांग्रेस का अगला पार्टी अध्यक्ष कौन होगा, इसके लिए पार्टी में गहमागहमी जारी है. कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव (Congress President Election 2022) की प्रक्रिया के लिए 22 सितंबर को अधिसूचना जारी की जाएगी. जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे पार्टी के शीर्ष पद के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) के बीच मुकाबले की स्थिति बनती जा रही है.

यह भी देखे

‘कोई भी व्यक्ति चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र’

सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी के विदेश से लौटने के बाद थरूर (Shashi Tharoor) और कुछ अन्य कांग्रेस नेताओं ने सोमवार को उनसे मुलाकात की. इसके बाद पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संकेत दिया कि उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए थरूर के चुनाव लड़ने से कोई आपत्ति नहीं है. पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा, जो कोई भी चुनाव लड़ना चाहता है वह स्वतंत्र है और ऐसा करने के लिए उसका स्वागत है. इस बारे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने भी अपनी स्थिति लगातार स्पष्ट की हुई है. यह एक खुली, लोकतांत्रिक और पारदर्शी प्रक्रिया है. किसी को भी चुनाव (Congress President Election 2022) लड़ने के लिए किसी की अनुमति की आवश्यकता नहीं है.

क्या गहलोत-थरूर के बीच होगा चुनाव?

सूत्रों ने कहा कि जी-23 समूह एक उम्मीदवार को खड़ा करने के लिए कमर कस रहा है और तिरुवनंतपुरम के सांसद थरूर (Shashi Tharoor) इसकी शीर्ष पसंद हैं. इस समूह ने कांग्रेस में व्यापक सुधारों की मांग की थी. वे इसी ग्रुप से शशि थरूर पार्टी के शीर्ष पद के लिए ताल ठोंक रहे हैं. वहीं गांधी परिवार के वफादारों के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) पसंदीदा विकल्प हैं. हालांकि, गहलोत कथित तौर पर मुख्यमंत्री पद छोड़ने और दिल्ली जाने के लिए अनिच्छुक हैं. अगर वे इसके लिए तैयार नहीं हो पाते हैं तो पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल वासनिक या राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे की लॉटरी खुल सकती है. वे दोनों अनुसूचित जाति समुदाय से हैं.

17 अक्टूबर को डाले जाएंगे वोट

इस बीच, कांग्रेस की राज्य इकाइयां राहुल गांधी को अगला पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए प्रस्ताव पारित कर रही हैं, जिसमें राजस्थान, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ शामिल हैं. हालांकि, कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (सीईए) के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने कहा है कि ऐसे प्रस्तावों का चुनाव प्रक्रिया पर कोई असर नहीं पड़ेगा और चुनाव (Congress President Election 2022) अपने तय कार्यक्रम के अनुसार ही होगा. उन्होंने बताया कि 22 सितंबर को कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की अधिसूचना जारी की जाएगी. वहीं 24 सितंबर से 30 सितंबर के बीच प्रत्याशियों के नामांकन दाखिल किए जाएंगे. इसके बाद 17 अक्टूबर को मतदान होगा.

किस खेमे में खड़ा है गांधी परिवार?

सूत्रों के मुताबिक भले ही ‘गांधी परिवार’ इस चुनाव से खुद को दूर दिखा रहा है लेकिन सब कुछ उसकी योजना के मुताबिक ही चल रहा है. ‘परिवार’ के निर्देश पर अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पर्चा भरने के लिए तैयार हो गए हैं. यानी अब मुकाबला सीधे अशोक गहलोत और शशि थरूर (Shashi Tharoor) के बीच में हो सकता है. ऐसा हुआ तो यह चुनाव गांधी परिवार के वफादारों और असंतुष्टों के बीच बन जाएगा. जिस तरीके से पार्टी की राज्य इकाइयों की ओर से राहुल गांधी के फेवर में प्रस्ताव पास हो रहे हैं, उससे सभी को स्पष्ट अंदाजा लग रहा है कि इस चुनाव का नतीजा क्या होने जा रहा है.