October 4, 2022
पॉल्यूशन सर्टिफिकेट ना होने पर ई-स्कूटर का चालान, Anand Mahindra ने ऐसे ली चुटकी

महिंद्रा समूह के चेयरमैन (Mahindra Chairman) आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) सोशल मीडिया पर खासे एक्टिव रहते हैं. वे आए दिन कुछ ना कुछ ऐसा पोस्ट करते रहते हैं, जो मोटिवेशनल होने के साथ ही रोचक भी होता है. अब भारतीय उद्योगपति ने एक और मामले पर ट्वीट किया है, जो तेजी से वायरल हो रहा है. आइए जानते हैं क्या खास है उनकी नई पोस्ट में.

पुलिस के कारनामे का मुद्दा उठाया

आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने जो ट्वीट किया है, वो केरल पुलिस के कारनामे से जुड़ा है. जिसमें पुलिस ने बीते दिनों एक इलेक्ट्रिक स्कूटर का चालान (E-Scooter Chalam) किया था. चालान किस बात के लिए किया गया उसे सुनकर आप खुद चौंक जाएंगे. दरअसल, इस ई-स्कूटर का पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट (PUCC) ना होने के कारण पुलिस ने इसका चालान कर दिया था. इसके बाद पुलिस का यह कारनामा सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो गया. अब आनंद महिंद्रा ने भी ई-स्कूटर के चालान पर अपने ही अंदाज में चुटकी ली है.

आनंद महिंद्रा ने उठाया बड़ा सवाल

इस मामले पर महिंद्रा चेयरमैन (Mahindra Chairman) ने इलेक्ट्रिक गाड़ियों के बाजार को लेकर बड़ी बात कही, या कहें एक बड़ा सवाल उठाया. उन्होंने लिखा, ‘और आप सोचते हैं कि इलेक्ट्रिक की राह पर आगे बढ़ने के बीच सबसे बड़ी चुनौती चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर (Charging Infrastructure) है.’ इसके साथ ही आनंद महिंद्रा ने इस कनफ्यूजन को प्रदर्शित करती हुई इमोजी भी शेयर की है. एक अन्य कमेंट में उन्होंने सवाल किया कि हर तरह से क्या इलेक्ट्रिक वाहन वास्तव में नॉन-पॉल्यूटिंग हैं?

ये भी देखें

आनंद महिंद्रा ने कही बड़ी बात

ये था ई-स्कूटर के चालान का मामला
अब आपको बताते हैं केरल पुलिस के इस कारनामे की पूरी डिटेल. तो ई-स्कूटर का यह ई-चालान केरल के मल्लपुरम जिले के नीलांचेरी में जारी किया गया था. 250 रुपये का यह चालान मोटर व्हीकल एक्ट, 1988 की धारा 213 (5) (ई) के तहत स्कूटर के मालिक द्वारा पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट (PUCC) ना दिखा पाने के चलते किया गया था.

मामला उछलने पर पुलिस ने ये कहा

इलेक्ट्रिक स्कूटर का पॉल्यूशन की वजह से काटा गया चालान जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, तो केरल ट्रैफिक पुलिस पर तरह-तरह की टिप्पणियां की जाने लगीं. इसके बाद ट्रैफिक पुलिस ने इस मामले पर अपना बयान जारी कर कहा कि चालान के दौरान यह गलती टाइपिंग मिस्टेक थी. पुलिस ने बताया कि चालक के पास दरअसल, ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था और वह लाइसेंस की सॉफ्ट कॉपी भी नहीं दिखा पाया था. लेकिन टिकट जारी करते समय टाइपिंग में गलती हो गई और लाइसेंस की जगह पीयूसीसी से संबंधित चालान हो गया.

Twitter पर 94 लाख फॉलोअर्स

ई-स्कूटर के चालान पर आनंद महिंद्रा का यह पोस्ट उनके हर पोस्ट की तरह सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है और लोग इस पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. गौरतलब है कि महिंद्रा चेयरमैन के Twitter पर 94 लाख फॉलोअर्स हैं और उनकी डाली गई पोस्ट तेजी से वायरल हो जाती है. आनंद महिंद्रा अपने ट्विटर अकाउंट पर मोटिवेशनल कंटेंट पोस्ट करने के लिए भी जाने जाते हैं.

इलेक्ट्रिक स्कूटर का पॉल्यूशन की वजह से काटा गया चालान