Flipkart सेल के ऑफर के चक्कर में मंगाया 50 हजार का लैपटॉप, डब्बा खोलते ही ग्राहक के उड़े होश

https://yuvaportal.com/

Flipkart सेल के ऑफर के चक्कर में मंगाया 50 हजार का लैपटॉप, डब्बा खोलते ही ग्राहक के उड़े होश

Flipkart : ये पहली बार नहीं है जब लोगों के साथ ऑनलाइन शॉपिंग में फ्रॉड हुआ हो
 
Flipkart सेल के ऑफर के चक्कर में मंगाया 50 हजार का लैपटॉप, डब्बा खोलते ही ग्राहक के उड़े होश

Flipkart और amazon पर इस साल की सबसे बड़ी सेल चल रही है. देश के लाखों उपभोक्ता इस सेल का फायदा भी उठा रहे हैं और जमकर खरीददारी कर रहे हैं, लेकिन कुछ अभागे ऐसे भी हैं जिन्हे इसमे लेने के देने पड़ रहे हैं.

अपनी फेस्टिव सीजन सेल को लेकर फ्लिपकार्ट काफी सुर्खियों में है. जहां पहले iPhone 13 ऑर्डर कैंसिल होने को लेकर फ्लिपकार्ट कंपनी पर तंज कसे गए थे.

वहीं, उस मामले के बाद अब एक नया मामला सामने आया है. असल में, IIM-अहमदाबाद के एक छात्र यशस्वी शर्मा ने अपने पिता के लिए नए लैपटॉप का ऑर्डर फ्लिपकार्ट पर किया था.

लेकिन जब उसका प्रोडक्ट डिलीवर होने की बारी आई तो फ्लिपकार्ट ने डिलीवरी दी तो उसमें घडी डिटर्जेंट के पैक थे. यह लैपटॉप का ऑर्डर बिग बिलियन डेज सेल के दौरान किया गया था. यशस्वी ने ट्वीटर पर कहा कि ई-कॉमर्स दिग्गज ने अपनी गलती को ठीक करने से साफ इनकार कर दिया है.

नीचे देखें ग्राहक का ट्वीट:

वहीं दूसरी और, एक लिंक्डइन पोस्ट में यशस्वी शर्मा ने कहा कि लैपटॉप की जगह घड़ी डिटर्जेंट पैक भेजने के बावजूद फ्लिपकार्ट के कस्टमर सपोर्ट वाले उल्टा उन पर आरोप लगा रहे हैं.

यशस्वी ने कहा कि उनके पास यह साबित करने के लिए सीसीटीवी सबूत भी हैं कि वह सच कह रहे हैं लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ! साथ ही यह भी कहा कि उसे ओपन बॉक्स डिलीवरी के बारे में नहीं पता था इसलिए उससे यह गलती भारी ग़लती हुई है.

ओपन बॉक्स डिलीवरी की शर्तों के अनुसार खरीदार को डिलीवरी एजेंट के सामने पैकेज खोलना होगा और आइटम को टेस्ट करने के बाद ही ओटीपी देना था. यशस्वी शर्मा ने कहा कि उनके पिता ने यह मान लिया था कि पैकेज प्राप्त करने पर ओटीपी दिया जाना था, जो कि ज्यादातर प्रीपेड डिलीवरी के मामले में होता है.

Flipkart सेल के ऑफर के चक्कर में मंगाया 50 हजार का लैपटॉप, डब्बा खोलते ही ग्राहक के उड़े होश
आलिया भट्ट, अमिताभ बच्चन से लेकर विराट कोहली तक फ्लिपकार्ट की ऐड करते हैं

देखिए Flipkart का बयान:

flipkart फ्रॉड पर बयान जारी कर फ्लिपकार्ट ने कहा की ग्राहकों के विश्वास को प्रभावित करने वाली सभी घटनाओं पर जीरो टॉलरेंस पॉलिसी का पालन करता है. अपने ग्राहकों के लिए ऑनलाइन शॉपिंग अनुभव को बेहतर बनाने के लिए हम कई चीजें कर रहे हैं. इस मामले में ओपन बॉक्स डिलीवरी को चुना गया था.

ग्राहक ने पैकेज को खोले बिना ओटीपी को डिलीवरी एक्जीक्यूटिव के साथ साझा किया. जैसे ही हमें इस बात का पता लगा तो हमने पैसे रिफंड को इनिशिएट कर दिया. 3 से 4 वर्किंग डे में पैसा ट्रांसफर कर दिया जाएगा

लैपटॉप की जगह पहुंचा दिए गए डिटर्जेंट पैक

हालांकि, फ्लिपकार्ट के सबसे वरिष्ठ ग्राहक सहायता कार्यकारी ने कहा कि इस प्रोडक्ट का रिटर्न संभव नहीं है. साथ ही कहा कि इस मामले को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है.

दूसरी तरफ यशस्वी ने कहा, ““मेरे पिता की गलती यह है कि उन्होंने यह मान लिया कि – फ्लिपकार्ट अश्योर्ड से आने वाले पैकेज में एक लैपटॉप होगा, न कि डिटर्जेंट. ओटीपी मांगने से पहले डिलीवरी बॉय मेरे पिता को ओपन बॉक्स कॉन्सेप्ट के बारे में नहीं बता पाया.

देश विदेश
खेत किसानी

FROM AROUND THE WEB