October 3, 2022

भारत में 5G तकनीक और कुछ ही दिनों में लांच होने वाली है. इसे लेकर कंपनियों समेत ग्राहकों में भी काफी एक्साइटमेंट देखने को मिल रही है.

आपको बता दें कि 5G तकनीक आने से पहले ही भारत की ज्यादातर स्मार्टफोन कंपनियों ने अपने 4G स्मार्टफोंस को 5G स्मार्टफोंस से रिप्लेस कर दिया है हालांकि इसके बावजूद भी लोग अभी तक 4जी स्मार्टफोन चला रहे हैं.

जब तक 5G तकनीक लॉन्च नहीं होती तब तक तो आप 4G स्मार्टफोंस का इस्तेमाल कर सकते हैं और इसमें किसी तरह की समस्या नहीं आएगी लेकिन आप अगर 5G तकनीक लॉन्च होने के बाद भी 4G स्मार्टफोन चलाएंगे तो आपको कुछ नुकसान हो सकते हैं.

अगर आपको लग रहा है कि आपको सभी 5G बेनिफिट्स मिलेंगे तो ऐसा नहीं है क्योंकि 5G स्मार्टफोंस कई मामलों में 4G स्मार्टफोन से बेहतर है. अगर आप इस बारे में नहीं जानते हैं तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे 5G तकनीक आने के बाद अगर 4G स्मार्टफोन में इस्तेमाल किया जाएगा तो नुकसान हो सकता है.

ये भी पढ़ें –

कॉल ड्रॉप की समस्या

4G स्मार्टफोंस के साथ एक समस्या जो बेहद नाम है वह है कॉल ड्रॉप. कॉल ड्रॉप की समस्या किसी भी यूजर को काफी ज्यादा परेशान कर सकती है और इससे आपका काफी समय भी बर्बाद होता है.

5G तकनीक आने के बाद ऐसी समस्या से आपको छुटकारा मिल जाएगा क्योंकि 5जी तकनीक काफी हाईटेक है और इसमें नेटवर्क की क्वालिटी भी काफी जबरदस्त है जिस वजह से आपको इसमें कॉल ड्रॉप की समस्या से छुटकारा मिल सकता है.

स्लो इंटरनेट स्पीड

4जी स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले यूजर इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं कि उन्हें कई बार स्लो इंटरनेट स्पीड मिलती है. दरअसल जब स्मार्टफोन अपडेट होते हैं तो उनमें आने वाली दिक्कतों को भी ठीक कर दिया जाता है.

और आप अगर 4G स्मार्टफोन चलाएंगे तो आपको स्लो इंटरनेट स्पीड का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि 5G तकनीक सिर्फ 5G स्मार्टफोंस के साथ ही कंपैटिबल है ऐसे में 4G स्मार्टफोन में आपको उस लेवल का एक्सपीरियंस नहीं मिल पाएगा और इंटरनेट का मजा किरकिरा हो सकता है.