October 3, 2022
इस हत्याकांड में पुलिस का कहना है कि लड़कियों का अपहरण नहीं हुआ था, वे अपनी मर्जी से बाइक पर बैठकर गई थीं.

लखीमपुर खीरी के निघासन में दो सगी नाबालिग बहनों की रेप के बाद हत्या की वारदात से लोगों में भारी रोष है. मामला अब राजनीतिक रंग लेता जा रहा है. वहीं इस बीच गुरुवार को पीड़ित परिवार ने दोनों नाबालिगों का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था.

प्रशासन ने उन्हें काफी समझाने की कोशिश की. इस दौरान प्रशासन ने परिवार से पांच वादे किए, जिसके बाद उन्होंने दोनों लड़कियों की अंत्येष्टि कर दी. परिवार ने उन्हें परंपरा के अनुसार दफ्न किया है. जानते हैं कि प्रशासन ने परिवार से क्या वादे किए हैं.

वादा-1: एससी/एसटी एक्ट के तहत दोनों मृत लड़कियों की मां को 8-8 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी. इसकी पहली किश्त 16 सितंबर को बैंक खाते में पहुंच जाएगी.

वादा-2: रानी लक्ष्मीबाई योजना के तहत मिलने वाली राशि मामले की जांच खत्म होने पर तत्काल दे दी जाएगी.

वादा-3: प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पीड़ित परिवार को घर दिया जाएगा. इसके लिए ब्लॉक के जरिए जल्द ही कार्रवाई की जाएगी.

वादा-4: नौकरी और ज्यादा से ज्यादा आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा जाएगा.

वादा-5: वारदात में शामिल आरोपी को जल्द से जल्द फांसी के फंदे तक पहुंचाने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट में पैरवी की जाएगी.

पिता ने प्रशासन द्वारा किए गए वादों वाला लेटर दिखाया

कानून व्यवस्था पर विपक्ष ने सरकार को घेरा

  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि पुलिस पर पिता का यह आरोप बेहद गंभीर है कि बिना पंचनामा और सहमति के उनकी बेटियों का पोस्टमॉर्टम किया गया. लखीमपुर में किसानों के बाद अब दलितों की हत्या हाथरस की बेटी हत्याकांड की जघन्य पुनरावृत्ति है.
  • बसपा प्रमुख मायावती बोलीं कि लखीमपुर खीरी की हृदय विदारक घटना सर्वत्र चर्चाओं में है, क्योंकि ऐसी दुखद व शर्मनाक घटनाओं की जितनी भी निन्दा की जाए वह कम है. यूपी में अपराधी बेखौफ हैं क्योंकि सरकार की प्राथमिकताएं गलत हैं. हाथरस समेत ऐसे जघन्य अपराधों के मामलों में ज्यादातर लीपापोती होने से ही अपराधी बेखौफ हैं.
  • कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर में बेहद विचलित करने वाली घटना हुई. बलात्कारियों को रिहा करवाने और उनका सम्मान करने वालों से महिला सुरक्षा की उम्मीद की भी नहीं जा सकती. हमें अपनी बहनों-बच्चियों के लिए देश में एक सुरक्षित माहौल बनाना ही होगा.
  • कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि रोज अखबारों व टीवी में झूठे विज्ञापन देने से कानून व्यवस्था अच्छी नहीं हो जाती. आखिर उप्र में महिलाओं के खिलाफ जघन्य अपराध क्यों बढ़ते जा रहे हैं?
  • प्रसपा के चीफ शिवपाल यादव ने कहा कि नृशंस घटना दुर्भाग्यपूर्ण व हृदय विदारक है. ऐसी घटनाएं प्रदेश की कानून व्यवस्था पर गहरे सवाल खड़ा करती हैं. दोषियों के खिलाफ त्वरित,पारदर्शी व कड़ी कार्रवाई करे सरकार.

6 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका

इस हत्याकांड में पुलिस का कहना है कि लड़कियों का अपहरण नहीं हुआ था, वे अपनी मर्जी से बाइक पर बैठकर गई थीं. आरोपी पहले से मृतक लड़कियों को जानते थे. मुख्य आरोपी छोटू ने दोनों लड़कियों की पहचान आरोपी से करवाई थी. हालांकि, वह मौके पर मौजूद नहीं था. आरोपी सोहेल और जुनैद ने दोनों लड़कियों के साथ रेप किया. पुलिस ने अब तक 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ में जुनैद को गोली लगी है. छोटी बहन की सोहेल से दोस्ती थी. बड़ी लड़की की दोस्ती जुनैद से थी. दोनों की दोस्ती हाल ही में हुई थी. आरोपी लड़कियों को बहलाफुसला कर ले गए. पुलिस के मुताबिक, पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि सोहेल और जुनैद ने लड़कियों के साथ जबरन संबंध बनाए.