October 4, 2022
रेप कर बनाया अश्लील MMS, 5 महीने तक करते रहे ब्लैकमेल

यूपी के गाजियाबाद के मुरादनगर में एक नाबालिक के साथ रेप करके उसका अश्लील MMS बनाकर वायरल करने का मामला सामने आया हैं. पीड़िता के पिता की तहरीर पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 376, पॉस्को कानून और आईटी कानून की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है. दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, पीड़िता के पड़ोस में रहने वाले आसिफ और इफ्तेखार नामक दो लड़कों ने 5 महीने पहले उसके साथ रेप किया था. इसके बाद रेप का वीडियो बनाकर उसे वायरल करने की धमकी देते हुए उसका शारीरिक शोषण करते रहे. इतना ही नहीं आरोपी अश्लील MMS के बदले लड़की के घरवालों से पैसे भी मंगाते थे.

ये भी देखें

पीड़िता के घरवालों ने बताया कि जब उन्होंने पैसे देने से इंकार कर दिया, तो उन्होंने वीडियो वायरल कर दिया. इसके बाद पूरे इलाके में वीडियो को लेकर चर्चाएं होने लगी. पड़ोसियों के माध्यम से इस बात की जानकारी मिली, तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई. इसके बाद पिता ने थाने में आरोपियों के खिलाफ नामजद तहरीर दी.

पुलिस ने बताया कि पीड़ित लड़की के पिता की तहरीर पर दो आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, पॉस्को कानून और आईटी कानून की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. बरामद की गई वीडियो को जांच के लिए लैब भेजकर पीड़िता का मेडिकल टेस्ट कराया जा रहा है. दोनों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं. उनसे पूछताछ जारी है.

बताते चलें कि यूपी रेप के वीडियो धड़ल्ले से बिकने का मामला सामने आया है. यहां रेप के वीडियो व्हाट्सएप पर वायरल हो रहे हैं. पोर्न वेबसाइट्स से डाउनलोड किए जा रहे हैं. सीडी की दुकानों पर बेचे जा रहे हैं. इनकी क्लिप मोबाइल के जरिए ट्रांसफर की जाती है. इसके बदले ग्राहक को महज 50 से 150 रुपये अदा करने होते हैं.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कासगंज और आगरा के सदर बाजार में छापेमारी के बाद सारी घटना का खुलासा हुआ. पुलिस ने कासगंज के सोरो इलाके से दो दुकानदारों को गिरफ्तार करते हुए उनके लैपटॉप जब्त कर लिए हैं. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी इसे गंभीरता से लेते हुए डीजीपी जावेद अहमद को कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है.