October 2, 2022

Indian Bowling, T20 World Cup-2022: ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी में इसी साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup-2022) में अब करीब चार सप्ताह बाकी हैं. भारतीय टीम इस वैश्विक टूर्नामेंट में अपना पहला मुकाबला पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी. टीम का चयन कर लिया गया है जिसकी कमान रोहित शर्मा संभालेंगे. इस बीच भारतीय चयनकर्ता इस बात को लेकर चिंतित हैं कि टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के पहले टी20 में किस तरह की गेंदबाजी की.

मोहाली टी20 में गेंदबाज रहे बेअसर

भारत और पाकिस्तान के बीच टी20 वर्ल्ड कप के ‘हाई-वोल्टेज’ मैच को अब करीब एक महीना बाकी है. रोहित शर्मा जहां टीम इंडिया की कमान संभालेंगे तो वहीं बाबर आजम के पास पाकिस्तान की कमान होगी. इस बीच भारतीय पेस अटैक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी20 मैच में बेबस सा नजर आया. उमेश यादव ने जरूर दो विकेट लिए लेकिन वह टी20 वर्ल्ड कप टीम में नहीं हैं. चोट और फिर अनुभवी पेसर भुवनेश्वर कुमार के प्रदर्शन में गिरावट के साथ भारतीय गेंदबाजी आक्रमण उतना प्रभावी नहीं दिख रहा है. इसी को लेकर चयनकर्ता थोड़ी चिंता में हैं.

मैनेजमेंट से होगी बात

यह भी देखें..

ऑस्ट्रेलिया से हार झेलने के बाद कप्तान रोहित शर्मा परेशान और निराश नजर आए. वह इस बात को लेकर असमंजस में थे कि भारतीय गेंदबाज 208 रनों का बचाव नहीं कर पाए. हालांकि पिच ने बल्लेबाजों का अच्छा समर्थन किया लेकिन माना जा रहा है कि चयनकर्ता चीजों को सुलझाने के लिए टीम प्रबंधन से बात कर सकते हैं.

‘एक मैच के आधार पर किसी को बाहर नहीं कर सकते’

बीसीसीआई से जुड़े एक चयनकर्ता के हवाले से इनसाइडस्पोर्ट की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘बेशक, यह एक चिंता का विषय है कि हमारे गेंदबाज 208 रन का बचाव नहीं कर पाए… लेकिन समझना होगा कि अभी वक्त है. आपको यह भी मानना होगा कि मोहाली की पिच बल्लेबाजी के लिए स्वर्ग थी. इसलिए, एक मैच के आधार पर किसी को बाहर करना सही नहीं होगा. हम टीम मैनेजमेंट से इस बारे में जरूरी मदद को लेकर बात करेंगे.’

मोहाली में नहीं बचा पाए थे बड़ा लक्ष्य

T20 World Cup: वर्ल्ड कप के एकदम कगार पर जाकर हुई चयनकर्ताओं को भारतीय ‘पेस अटैक’ की चिंता, टीम मैनेजमेंट से करेंगे बात

भारतीय टीम के गेंदबाज मोहाली में सीरीज के पहले टी20 मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कुछ प्रभाव नहीं छोड़ पाए थे. हार्दिक पंड्या की 71 रनों की तूफानी पारी और ओपनर केएल राहुल के अर्धशतक की बदौलत भारत ने उस मैच में 6 विकेट पर 208 रन बनाए लेकिन गेंदबाज लक्ष्य का बचाव नहीं कर पाए. ऑस्ट्रेलिया ने मुकाबला चार गेंद बाकी रहते जीत लिया. अक्षर पटेल ने तीन और पेसर उमेश यादव ने दो विकेट लिए. अनुभवी पेसर भुवनेश्वर कुमार काफी महंगे रहे और उन्होंने 52 रन लुटाए. वहीं हर्षल पटेल ने भी 49 रन दिए और कोई विकेट नहीं ले पाए.