September 27, 2022
यूनिवर्सिटी डाल रही छात्राओं पर हॉस्टल छोड़ने का दबाव', पढ़ें पूरी खबर...

Girls Hostel Video Leak: चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के MMS कांड पर हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं. तीन आरोपी 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेजे जा चुके हैं और मामले में चौथी गिरफ्तारी कभी भी हो सकती है. इस बीच Zee News के खुलासे में सामने आया है कि यूनिवर्सिटी प्रबंधन छात्राओं को घर जाने के लिए मजबूर कर रहा है.

जी न्यूज के कैमरे पर छात्राओं ने कहा कि यूनिवर्सिटी प्रशासन की तरफ से उन्हें हॉस्टल छोड़ घर जाने के लिए मजबूर किया जा रहा है, लेकिन वह जाना नहीं चाहतीं. इस बीच छात्राओं और डिपार्टमेंट ऑफ स्टूडेंट्स वेलफेयर की मैनेजर रितु राणावत के बीच बातचीत सामने आई है, जिसमें राणावत छात्राओं से गलत बाइट न देने को कह रही हैं.

ये भी देखें

आइए आपको बताते हैं छात्राओं और राणावत के बीच की पूरी बातचीत.

छात्रा- टिकट नहीं मिलेगी क्या?

रितु राणावत, मैनेजर, DWS- आपको क्या लग रहा है कि 10 लोग इकट्ठे होकर बोलेंगे फिर उन चीजों पर खड़े हो जाएंगे हम आकर, ओवर हो गया अब हमारा.

छात्रा – मैम गलती भी तो हमारी नहीं है इसमें

छात्रा- किसकी गलती है बताओ हमने तो नहीं किया

रितु राणावत, मैनेजर, DWS- मान लिया आपकी गलती नहीं है, जाइये बेटा आप लोग, किसकी गलती है?

छात्रा – मैम मानते हैं स्टूडेंट की गलती है, लेकिन ये लोग छिपाने की बजाय… कॉलेज फंस रहा है वरना तो कॉलेज की गलती ही नहीं है इसमें.

रितु राणावत, मैनेजर, DWS- ऐसी बाइट मत दो , मत दीजिए गलत बाइट, गलत बाइट मत दीजिए, आप जैसे लोगों की वजह से ही चीज़ें हो रही हैं, मत दीजिए गलत बाइट, आप लोगों को जिन चीज़ों का पता नहीं है मत बोलिए उन चीज़ों के बारे में…अगर पता है तो सीधा वहां पर सबकुछ होता है, वहां बैठिए और वहां बोलिए, आपको हमने पूरी छूट दे रखी है.

छात्रा- मैम सुनता कौन है ,सुनता कौन है?

मोहाली MMS केस में ज़ी न्यूज़ का बड़ा खुलासा – ‘जबरन छात्राओं को हाॅस्टल छोड़ने को कहा जा रहा है

आरोपियों से हो रही पूछताछ

मोहाली ‘MMS कांड’ ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है.अश्लील वीडियो के तार मुंबई और गुजरात से भी जुड़ रहे हैं. आरोपियों के मोबाइल पर गुजरात और मुंबई से कॉल्स आए हैं. इनका इस केस से क्या संबंध है, इसे लेकर SIT आरोपियों से पूछताछ कर रही है.आरोपी छात्रा से मिला डिवाइस जांच के लिए भेज दिया गया है.

विरोधाभास पैदा कर रहे बयान

MMS कांड पर पुलिस के दावे पर सवाल उठ रहे हैं क्योंकि इस पूरे मामले में एक के बाद बयान विरोधाभास पैदा कर रहे हैं. यूनिवर्सिटी की छात्राओं ने आरोप लगाया कि 60 लड़कियों का MMS बनाया गया. फिर आरोपी छात्रा ने कहा कि मैंने अपने दोस्त को वीडियो भेजे. उसके बाद पुलिस का बयान आया कि आरोपी छात्रा के अलावा किसी का वीडियो नहीं मिला. सोमवार को आरोपियों की पेशी के बाद वकील ने बयान दिया कि आरोपी छात्रा के अलावा एक और छात्रा का वीडियो मिला है.